Category: hindi dard bhari kavita

Poem in Hindi – Ek Boond

Poem in Hindi – Ek Boond ज्यों निकल कर बादलों की गोद से। थी अभी एक बूँद कुछ आगे बढ़ी।। सोचने फिर फिर यही जी में लगी। आह
Read More